Mather love Latest Updates

एक बार गले लगा ले ना… #मां #याद #

देख मां आज फिर टूटी हूं…,

तेरी झलक पाने को…,

आजा मां…! फिर से तू…,

एक बार गले लगाने को…।

जो- जो मैं मांगू तुझसे…,

हर एक चीज ला देती थी…,

बात कहने से पहले ही..,

हर ख्वाहिश पूरी कर जाती थी…।

खेल -खिलौने .., साग- मिठाई….,

हर चीज़ पसंद मेरी बनाती थी…,

मां…! ओह , मेरी प्यारी मां…!

कितना प्यार लुटाती थी…।

ये दुनिया गन्दगी भरी मां…!

अब मतलब अपना निकालती है…,

दिल तोड़ती…, मुंह मोड़ती…,

हर वक़्त ही रुलाती है….।

लोट आ मां…! एक बार फिर….,

मुझे ये दुनिया सताती है…।

जो तू डांट दे गुस्से से मां..,

तो सहम- सा जाता था…,

पर प्यार पाने से तेरा….,

फिर से खिल जाता था…।

रोते है अब तन्हा ही मां….!

ना दर्द…, किसी को बताते है…,

तेरी हर एक-एक बात को…,

अब कानों में सुन पाते है….।

कभी लगती आवाज़ जो तेरे बुलावे की…,

तो दौड़े चले आते है..,

पाकर तन्हा कमरे को….,

फिर सहम हम जाते है….।

डांट- मार के प्यार से तू…,

फिर हमे मना ले ना…,

मां… मुझे एक बार ..,

बस एक बार लगे लगा ले ना…

बस एक बार गले लगा ले ना…!!

9 Replies to “एक बार गले लगा ले ना… #मां #याद #

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.